Wednesday, 5 June 2019

जंगल से निकलकर आबादी तक पहुंचा बाघ, दहशत

जंगल से निकलकर आबादी तक पहुंचा बाघ, दहशत


पलियाकलां-खीरी। जंगल से निकलकर एक बाघ आबादी क्षेत्र तक आ पहुंचा है। इस बाघ को शनिवार की सुबह ग्रामीणों ने देखा। जिसके बाद क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई। वन विभाग को सूचना दी गई तो बाघ की तलाश शुरू हुई। बाघ गुरुवार को एक गाय व उसके बछड़े को अपना शिकार बना चुका है शनिवार की सुबह उस वक्‍त भीरा-पलिया मार्ग शारदा पुल के पास के कचनारा गांव में अफरा-तफरी मच गई। 
palia kalan news today
Pexels.com (Symbolic Photo)
जब क॒छ ग्रामीणों ने रेलवे लाइन व सड़क के बीच बने तालाब के पास एक बाघ को बेठे हुए देखा। यह खबर आग की तरह परे क्षेत्र में फेल गई | ग्रामीणों ने पहले पुलिस को और बाद में वन महकमे को इस बात की जानकारी दी। बीते दो दिनों से क्षेत्र में बाघ के होने की आशंका से दहशत का माहोल बना हआ हे। ग्रामीण अपने घरों से निकलने में डर रहे हैं। 

गुरुवार को भी दो जानवरों पर बाघ के हमले से क्षेत्र के लोग दहशत में थे। उसके बाद बाग का अचानक आबादी क्षेत्र के पास देखा जाना वन विभाग के लिए भी चिंता की बात है। हालांकि सूचना पर पहुंची पुलिस व वन विभाग की टीम ने बाघ की तलाश शुरू कर दी है। बाघ की तलाश के लिए दधवा की टीम में ड्रोन की मदद ली है। 

हालांकि काफी मशक्कत के बाद भी बाघ का पता नहीं चल सका था। मामले की जानकारी होने के बाद सीओ पलिया सहित भीरा पुलिस, पलिया पुलिस वन विभाग पलिया, वन विभाग भीरा से वन कर्मी और द्धवा वार्डन, मैलानी वार्डन भी मौके पर पहुंंचे। मामले पर दधवा वार्डन ने बताया कि लगातार पुलिस के साथ मिलकर वन विभाग  टीम कांबिंग कर रही है। जल्द ही बाघ को जंगल में खदेड़ दिया जाएगा।



पलिया कलां व लखीमपुर खीरी की हर न्यूज़ के लिए paliakalan.in पर visit करना न भूले। न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।  धन्यवाद्

No comments:

Post a Comment